क्या स्क्रीन समय बच्चों के लिये वास्तव में खराब है?

लेखक: मेगन वेञ्ल
स्क्रीन हमारे लिये बहुत कुछ अच्छा करते हैं। वे हमें अपने दोस्तों व परिवार से जोड़ने, सीखने, संवाद एवं मनोरंजन में मदद करते हैं।

इसलिये आप जैसे छोटे बच्चों के माता पिता के लिये यह निर्णय करना एक चुनौती है कि कितना स्क्रीन समय आपके बच्चे के लिये उचित है। स्क्रीन्स आजकल हर जगह है, और बहुत चीजों के लिये वे बहुत उपयोगी हैं।
आप सोचते होगें कि अधिक समय तक बच्चे को यू ट्यूब पर उसके पसन्दीदा कार्टून देखने देने से उसकी एकाग्रता की क्षमता कम हो जायेगी। क्या वह बोलना सीखने से पहले ही तकनीकि का व्यसनी हो जायेगा?

ताजा शोध के अनुसार कितना स्क्रीन समय बच्चों के लिये बहुत अधिक है इसपर मतभेद के बावजूद बच्चों के लिये स्क्रीन समय सुखदायक है। और यह स्क्रीन समय लाभकारी भी है।

स्क्रीन समय के लाभः
सभी स्क्रीन समय आपके बच्चों के लिये खराब या स्वास्थ के हानिकारक नहीं होते। जिस प्रकार आप बच्चों को विशेष मौकों पर चाकलेट देना उचित मानते हैं, सीमित स्क्रीन समय आपके बच्चों के विकास के लिये अमूल्य है।
स्क्रीन समय आपके लिये बच्चे से जुड़ने का अच्छा मौका है। आप दोनों उसक मनपसंद शिक्षाप्रद शो को साथ मिलकर देख सकते हैं। छोटे छोटे शिक्षाप्रद शो आपके बच्चे की संवाद कला विकसित करने में सहायक हो सकती है तथा आपसे बच्चे के जुड़ाव का सर्वोत्तम समय है।

Pathways.org about screen time. के एक लेख के अनुसार “जिस प्रकार आप बच्चे को किताब पढ़ा कर सुनाते हैं, उसी तरह आपका इन प्रोग्राम के समय बच्चे के साथ होना महत्वपूर्ण है।”

आप बच्चे से प्रश्न पूछ कर उसकी भागीदारी बढ़ा सकते हैं, जैसे आगे क्या होगा? या घर का रंग क्या है आदि।
उम्र के अनुसार विडियो गेम खेलना बच्चे के लिये आँख व हाथों समन्वय बढ़ाने में सहायक है, जो बढ़े होने पर कई तरह से लाभदायक हो सकता है।

स्क्रीन समय के नुकसानः
कई विशेषज्ञ मानते कि संयमित स्क्रीन समय छोटे बच्चों के लिये लाभ दायक हो सकता है। अमेरिकन एकेडमी आफ पेडियाट्रिक्स (ऐपी) के सुझाव अनुसार १८ माह तक के विकास में बच्चों को केवल परिवार के सदस्यों से फेसटाइम या स्काईप पर बातचीत के अलावा स्क्रीन समय बिल्कुल नहीं मिलना चाहिये ।

पाथवेज टीम के अनुसार आपके बच्चे के आरम्भिक विकास के लिये आपसी बातचीत करना नय आईओएस सिस्टम सीखने से बहुत अधिक जरूरी है।
नवीनतम शौध से पता चलता है कि १८ माह तक के विकास के दौरान अधिक स्क्रीन समय बच्चे के सामान्य विकास को धीमा कर देता है। एक ऐसे विकास में बोलना शामिल है।

कुछ अध्ययन २ से ५ वर्ष के बीच बहुत अधिक स्क्रीन समय एवं बच्चे के विकास की कुछ अतिरिक्त समस्याओं का आपसी संबन्ध दर्शाते हैं।
अमेरिका में ६० प्रतिशत बच्चे रोज २ घन्टे से अधिक समय स्क्रीन के सामने बिताते हैं, स्वभाविक है कि उनके माता पिता स्क्रीन के उनके प्रभाव के बारे में चिन्तित रहते हैं।

न्यूयार्क टाइम्स के बेनडिक्ट केरी लिखते है ” अधिकतर माता पिता शायद स्क्रीन समय के सबसे बढ़े नुकसान से पहले से ही अवगत हैं, किस हद तक यह उनक बचपन के अनुभवों से दूर कर सकता है, जिनमें सोना, बाड़ पर चढ़ना, मुसीबत में पड़ना या व्यवहारिक चुटकले गढ़ना आदि”

सीमित स्क्रीन समय अच्छा हैः
स्क्रीन समय बच्चों के स्वस्थ विकास का एक बड़ा हिस्सा हो सकता है।
अवश्य ही बहुत अधिक स्क्रीन समय नहीं देना चाहिये। बच्चों को बाहरी गतिविधियों के लिये प्रोत्साहित करना चाहिये, जैसे बाहर खेलने वाले खेल खेलना।
लेखक मेगन वेञ्ल

Comments are closed.